सक्सेज के लिए अपनाइए 3 पी फॉर्मूला : अजीम प्रेमजी

FIRST PERSON: प्रो चेयरमैन अजीम प्रेमजी ने स्टूडेंट्स के लिए कुछ सलाह दी हैं जिनसे उन्हें जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी।

करियर डेस्क । जब मैंने विप्रो में अपनी शुरुआत की तो मैं महज 21 साल का था। उससे पहले कुछ साल मेरे स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी इंजीनियरिंग स्कूल में बीते थे। ज्यादातर लोगों ने एक तेल के व्यवसाय की तुलना में एक बेहतर नौकरी लेने की सलाह दी थी, लेकिन मैंने ऑयल बिजनेस को ही चुना। आज जब पीछे मुड़कर देखता हूं तो मुझे इस बात की खुशी होती है कि मैंने उनकी सलाह मानने के बजाय खुद फैसला लिया। असल में लीडरशिप की शुरुआत ऐसे ही होती है। जब आपको कोई रास्ता समझ नहीं आता तो आपके भीतर से एक आवाज आती है जो आपको राह दिखाती है। अगर आप उस आवाज पर भरोसा करते हैं तो इसका अर्थ है कि आप खुद पर भरोसा कर रहे हैं। जब बात कॅरिअर चुनने की आती है तो आपको अपनी किस्मत का चार्ज लेना होगा और यहीं से कामयाबी का सफर शुरू होता है।

3 गुण कामयाबी के लिए

एक स्टूडेंट के रूप में पढ़ाई करते हुए या फिर जॉब के दौरान आपके अंदर परफॉर्मेंस, प्रैक्टिस व पर्सिस्ट जैसी तीन क्वालिटीज जरूर होनी चाहिए। अगर आप किसी चीज के लिए प्रैक्टिस करते हैं तो आपकी परफॉर्मेंस बेहतर होती है। कई बार काम मुश्किल होने पर हम परेशान हो जाते हैं ऐसे वक्त में हमें पर्सिस्ट यानी दृढ़ रहना होता है। ये तीनों गुण आपको कामयाबी की ओर ले जाएंगे। इसके साथ ही यह जरूरी है कि आप अपने अंदर की स्ट्रेंथ को पहचानें। यह पहचान अापको अपने सपनों को साकार करने में मदद करेगी।

जीत को सिर पर न बिठाएं 

जिंदगी की चुनौतियों में कभी आप जीतेंगे तो कभी हार जाएंगे। आपको जीत का आनंद उठाना चाहिए, लेकिन इसे सिर पर भी नहीं बैठने देना चाहिए। जैसे ही ऐसा होगा आप असफलता के लिए अपना रास्ता खोल देंगे। इसी तरह फेलियर का सामना करते हुए भी जरूरत से ज्यादा हतोत्साहित नहीं होना चाहिए। लेकिन जब भी हारें तो उसमें छिपे सबक को जरूर याद रखें।  

श्रेष्ठता और रचनात्मकता साथ-साथ

श्रेष्ठता कोई मंजिल नहीं बल्कि एक सफर है। क्रिएटिविटी को कई बार दूसरे क्षेत्रों से प्रेरणा की जरूरत होती है। यह एक संयोग नहीं है कि अल्बर्ट आइंस्टीन की जितनी रुचि फिजिक्स में थी उतनी ही दिलचस्पी उनकी संगीत में भी थी। बर्ट्रेंड रसेल मैथेमेटीशियन और फिलॉसफर दोनों थे। असल में श्रेष्ठता और रचनात्मकता एक साथ आगे बढ़ती हैं। दोनों को साथ लेकर ही आप तरक्की पा सकते हैं। 

Next News

कामयाबी कभी भी मार्क्स की मोहताज नहीं होती : रानी मुखर्जी

First Person : अभिनेत्री रानी मुखर्जी के मुताबिक अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए आपको खुद को लगातार प्रेरित करना होगा। अपने टैलेंट की कद्र करना सीखिए, कामयाबी

आपके फैसले ही आपको सुपर हीरो बनाते हैं : ऋतिक रोशन

FIRST PERSON: बॉलीवुड एक्टर रितिक रोशन के अनुसार कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने क्या किया है जो कुछ भी करें उसे महानता के साथ करें। इससे लोगों को आपके चरित्र

Array ( )