प्रधानमंत्री विशेष स्कॉलरशिप के लिए आवेदन शुरू,जल्दी करें अप्लाई

इसमें वह विद्यार्थी आवेदन कर सकते है जिन्होंने 12वीं कक्षा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड या राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड से पास की हो। विद्यार्थियों के लिए जम्मू कश्मीर का स्थायी नागरिक होना जरूरी है।

एजुकेशन डेस्क । ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नीकल एजूकेशन (एआइसीटीई) ने जम्मू कश्मीर के विद्यार्थियों के लिए प्रधानमंत्री विशेष स्कॉलरशिप योजना (पीएमएसएसएस) के तहत आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसमें वह विद्यार्थी आवेदन कर सकते है जिन्होंने 12वीं कक्षा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड या राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड से पास की हो। विद्यार्थियों के लिए जम्मू कश्मीर का स्थायी नागरिक होना जरूरी है। आवेदन की अंतिम तिथि 9 मई है। 

डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग वाले विद्यार्थी लेटरल एंट्री के साथ आवेदन कर सकते हैं। उनके लिए आवेदन फार्म भरने की प्रक्रिया 17 अप्रैल से शुरू होगी। वहीं अंतिम तिथि 16 मई होगी। प्रधानमंत्री विशेष स्कॉलरशिप योजना का लाभ वही विद्यार्थी ले सकते हैं, जिनकी कुल आय वार्षिक आठ लाख से अधिक ना हो।नीट व जेईई परीक्षा पास करने वाले विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं।

5000 स्टूडेंट्स को मिलेगी स्कॉलरशिप

स्कूल एजूकेशन विभाग के सचिव फारूक अहमद शेख ने बताया कि इस साल जम्मू कश्मीर के पांच हजार विद्यार्थियों को प्रधानमंत्री विशेष स्कॉलरशिप योजना का लाभ मिलेगा।इसमें 2070 सामान्य कोर्स, 2830 प्रोफेशनल कोर्सेज और 100 मेडीकल व डेंटल कोर्सो के लिए स्कॉलरशिप मिलेगी। पीएमएसएसएस के तहत सामान्य कोर्स करने वाले विद्यार्थियों के लिए तीस हजार प्रति वर्ष, इंजीनियरिंग कोर्स के लिए 1.25 लाख वार्षिक और मेडीकल व डेंटल कोर्स के लिए तीन लाख तक की स्कॉलरशिप प्रति विद्यार्थी उपलब्ध होगी।

अलग से मिलेंगे 1 लाख रूपए साल

इसके अलावा हर विद्यार्थी को 1 लाख रुपये हर साल अन्य चार्ज के लिए मिलेंगे। जो विद्यार्थी अपने बलबूते पर आइआइटी, नीट, मेडीकल कॉलेज, डेंटल कॉलेज या केंद्रीय विवि में दाखिला लेते हैं तो वो भी स्कॉलरशिप के हकदार होंगे। विद्यार्थियों की ट्यूशन फीस को एआइसीटीई सीधे ही संबधित कॉलेजों में भेजेगी। हॉस्टल फीस, पुस्तकें, स्टेशनरी व अन्य चार्ज को सीधे ही विद्यार्थियों के डीबीटी में भेजा जाएगा। वर्ष 2012-13 से जब से यह योजना शुरू हुई है तब से जम्मू कश्मीर के 16500 विद्यार्थी फायदा ले चुके हैं। जम्मू कश्मीर के विद्यार्थियों को इस योजना के तहत देश के प्रतिष्ठित कॉलेजों में दाखिला मिलता रहा है। योजना के जरिए विद्यार्थियों से धोखा करने वाले तत्वों को बाहर निकाला जा चुका है और पिछले कुछ वषरे से एआइसीटीआइ व शिक्षा विभाग स्वयं ही सारे प्रबंध करता है।

यहां करें अप्लाई - https://www.aicte-jk-scholarship-gov.in/login.php?r=session_invalid

Next News

एक क्रिएटिव करिअर का मौका देती है फैशन डिजाइनिंग

भारतीय टेक्स्टाइल उद्योग रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है और यह दोगुनी रफ्तार से वृद्धि कर रहा है। यही नहीं मौजूदा समय में यह

भारत 12 करोड़ लोग बेरोजगार, केरल में सबसे ज्यादा: सरकार की रिपोर्ट

भारत 12 करोड़ बेरोजगार, आंकड़ा दुनिया में सबसे ज्यादा

Array ( )