IIT-JEE : 31 मई को डिक्लेयर हो सकती है एआईआर, एडवांस का एग्जाम 20 मई काे

दो फेज के बाद मई में ही रिजल्ट और एआईआर डिक्लेयर होगी। एडमिशन के लिए जून से काउंसिलिंग शुरू हो सकती है।

एजुकेशन डेस्क। आईआईटी जेईई मेन के ऑफलाइन और ऑनलाइन एग्जाम के बाद अब स्टूडेंट्स को रिजल्ट का इंतजार है। जिसके बाद वे  एडंवास का एग्जाम देंगे। रिजल्ट 30 अप्रैल तक जारी होगा। इसके पहले 24 से 27 अप्रैल के बीच एग्जाम की आन्सर-की वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी। अपनी ड्रीम आईआईटी में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स को एडवांस राउंड क्लीयर करना होगा। जिसके बाद रिजल्ट और ऑल इंडिया रैंकिंग जारी की जाएगी। 

12 के मार्क्स जरूरी नहीं 

एमएचआरडी ने फैसला किया है कि जेईई मेन्स एग्जाम की रैंकिंग के साथ 12'th के मार्क्स नहीं जोड़े जाएंगे। लिहाजा बोर्ड स्टूडेंट्स की 12'th की मार्कशीट के रोल नंबर वेरीफाई नहीं करेगा। लेकिन स्टूडेंट्स को एनआईटी, आईआईटी अथवा अन्य इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूशन में काउंसलिंग के दौरान 12'th की मार्कशीट लानी होगी। इसमें 75% मार्क्स वाला नियम पूरा लागू होगा।

पहले एआई ट्रिपल ई से होता था एडमिशन 

जेईई मेन्स एग्जाम से पहले टेक्निकल इंस्टीट्यूशन्स में एन्ट्रेन्स के लिए एआईईईई होता था। वहीं स्टेट लेवल पर प्री इंजीनियरिंग टेस्ट कंडक्ट किए जाते थे। आईआईटी एडमिशन्स में क्वालिटी डवलप करने के उद्देश्य के साथ एंट्रेन्स एग्जाम को डिवाइड कर दिया गया। इसी एग्जाम के बाद जेईई मेन्स के जरिए करीब 2.24 लाख स्टूडेंट्स का सिलेक्शन जेईई एडवांस के लिए होता है। जेईई एडवांस पास आउट स्टूडेंट्स ही आईआईटीज में एडमिशन के लिए क्वालिफाइंग होते हैं। बाकी स्टूडेंट्स को एनआईटी में एडमिशन मिलता है। 

Next News

JEE Main 2018 : इस बार कितना रह सकता है कट ऑफ? एक्सपर्ट से जानिए

JEE Main का कटऑफ इस बार 75 से 80 के बीच रह सकता है। ऐसे में 15 हजार तक की रैंक हासिल करने वाले स्टूडेंट्स को आसानी से टॉप एनआईटी (NIT) मिल जाना चाहिए।

IIT JEE : 24 अप्रैल को स्टूडेंट्स की मेल पर आएगी आंसर—की, मिलेंगे रिकॉर्डेड रिस्पॉन्स

सीबीएसई की ओर से आयोजित जेईई मेन्स एग्जाम के दोनों खत्म हो चुके हैं। 10 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने परीक्षा ऑफलाइन और ऑनलाइन मोड में दी। अब स्टूडेंट्स

Array ( )