इस साल IIT में गर्ल्स के लिए 779 सीटें बढ़ीं, सबसे ज्यादा खड़गपुर में

सीटों में यह बढ़ोतरी इसी साल से देखने को मिलेगी। जुलाई 2018 से आईआईटी के नये बैच का नामांकन शुरू हो जाएगा। और इस नये बैच में ही 779 सीटें बढ़ाई जाएंगी।

नई दिल्ली।  आईआईटी ने इस साल गर्ल्स स्टूडेंट के लिए 779 सीटें आरक्षित कर ली हैं। यह कदम इंजीनियरिंग में महिलाओं की घटती संख्या को बढ़ाने के लिए किया है।  लड़कों की तुलना में हर साल इंजीनियरिंग के कोर्स में लड़कियों का नामांकन कम होता है। इसी कम संख्या को अधिक करने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) ने पूरे देश में लड़कियों के लिए 779 सीटें आरक्षित की हैं। 

इस साल से बढ़ेंगी ये सीटें

सीटों में यह बढ़ोतरी इसी साल से देखने को मिलेगी। जुलाई 2018 से आईआईटी के नये बैच का नामांकन शुरू हो जाएगा। और इस नये बैच में ही 779 सीटें बढ़ाई जाएंगी।

23 आईआईटी को भेजा था सर्कुलर
इस महीने की शुरुआत में ही एचआरडी मिनिस्ट्री ने देश के सभी 23 आईआईटी को सर्कुलर भेजकर गर्ल्स स्टूडेंट की संक्या में बढ़ोतरी करने की सलाह दी थी। साथ में एचआरडी मिनिस्ट्री ने यह भी कहा था कि नए बैच में कम से कम 14 पर्सेंट सीटें महिला उम्मीदवारों के लिए सुनिश्चित करनी चाहिए लेकिन इससे अन्य छात्रों के लिए उपलब्ध मौजूदा सीटों पर असर नहीं पड़ना चाहिए। 

Next News

लाइव मॉडल/ 12वीं के तारेश ने चार महीने में रि-डिजाइन की बाइक

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन में जाना चाहता है स्टूडेंट

नामी कंपनियों में नौकरी छोड़, अब गांव के बच्चों और किसानों की मदद में जुटे युवा पेशेवर

आईआईटी के पूर्व छात्रों-प्रोफेसर की ट्रेनिंग से समाज और स्टार्टअप्स को नई दिशा

Array ( )