5 डिप्लोमा कोर्सेस, जो 10वीं पास स्टूडेंट्स को देते हैं जॉब गारंटी

इन कोर्सेस न सिर्फ स्किल्स को इंप्रूव करने का मौका मिलता हैं बल्कि उन्हें जॉब मिलने की गारंटी भी बढ़ जाती है।

बढ़ती बेरोजगारी के दौर में आज स्टूडेंट्स कोई ऐसा ऑप्शन देख रहे है जो उन्हें जॉब की गारंटी देता हो। बाजार में ढेरों ऐसे कोर्सेस हैं जिनको करने के बाद भी युवाओं को रोजगार नहीं मिलता और डिपरेशन में आ जाते हैं।
इसलिए bhaskareducation.com कुछ ऐसे डिप्लोमा कोर्सेस के बारे में बताने जा रहे हैं जो 10वीं पास स्टूडेंट्स कर सकते हैं ।
इन कोर्सेस न सिर्फ स्किल्स को इंप्रूव करने का मौका मिलता हैं बल्कि उन्हें जॉब मिलने की गारंटी भी बढ़ जाती है।

1. होटल मैनेजमेंट - इन दिनों होटल और हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में काफी स्कोप है। ऐसे में यदि आपको हॉस्पिटेलिटी में करियर बनाना है तो आप दसवीं के बाद होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कर सकते हैं। यह डिप्लोमा करने से इस फील्ड में जॉब मिलना आसान हो जाएगा।


2. कम्प्यूटर हार्डवेयर एवं नेटवर्किंग - कम्प्यूटर के युग में यह एक बेहतरीन ऑप्शन हो सकता है। इस फील्ड में आप कम्प्यूटर रिपेयर और नेटवर्किंग से संबंधित जानकारी प्राप्त करते हैं जो एक अच्छी जॉब दिलाने में हेल्पफुल हो सकती है।


3. इंजीनियरिंग डिप्लोमा - कई सारे संस्थान और पॉलीटेक्निक कॉलेज दसवीं के बाद इंजीनियरिंग डिप्लोमा करवाते हैं। इनको करने के बाद आपको इंजीनियरिंग फील्ड से जुड़े मिडिल लेवल के जॉब आसानी से मिल सकते हैं।


4. आईटीआई (इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग) - दसवीं के बाद आईटीआई भी अच्छा ऑप्शन है। इसमें बहुत से सब्जेक्ट हैं जैसे इलेक्ट्रीशियन, वेल्डर, फिटर, कारपेंटर, मैकेनिक, स्टेनो, कम्प्यूटर आदि। इसमें बहुत बड़े जॉब तो नहीं मिलते हैं, लेकिन अगर आप खुद का कोई काम करना चाहे तो इस कोर्स को आसानी से करके अच्छी कमाई भी की जा सकती है।


5. स्टेनोग्राफी एवं टाइपिंग - आप दसवीं के बाद स्टेनोग्राफी एवं टाइपिंग में भी डिप्लोमा कर सकते हैं। कुछ प्रदेशों में 11th और 12th में भी स्टेनोग्राफी एक विषय के रूप में चुन सकते हैं। कोर्ट और अन्य कई सरकारी दफ्तरों में इस तरह की वैकेंसियां निकलती रहती हैं जिनके लिए स्टेनो अनिवार्य होता है।
 

Next News

10th के बाद रिजल्ट आने से पहले ही फेवरिट स्ट्रीम में होगा एडमिशन

इस प्रोसेस से स्टूडेंट्स को यह फायदा भी होगा कि अगर वे किसी स्ट्रीम को नहीं समझ पाते तो रिजल्ट आने के बाद उसे चेंज कर सकेंगे।

साइंस के प्रति लड़कियों का रुझान बढ़ा, लेकिन करियर के लिए प्रोत्साहन नहीं: सर्वे

सर्वे में शामिल 12 से 14 वर्ष की करीब 85% लड़कियों का कहना था कि वे इन सब्जेक्ट्स में रुचि रखती हैं और आगे इस क्षेत्र में करियर बनाना चाहती हैं।

Array ( )