वायु प्रदूषण से दुनियाभर में 36.19 लाख लोगों की मौत, इनमें से 7.81 लाख भारत के

भारत, पाकिस्तान, चीन, बांग्लादेश, मेडागास्कर और केन्या जैसे औद्योगीकरण से तेजी से जुड़े देशों में प्रदूषण की वजह से होने वाली हर चार में से एक मौत होती है.

शोधकर्ताओं ने कहा कि इनमें से अधिकतर मौतें प्रदूषण की वजह से होने वाली दिल की बीमारियों, स्ट्रोक, फेफड़ों के कैंसर और सांस की गंभीर बीमारी सीओपीडी जैसी गैर संचारी बीमारियों की वजह से हुई

Next News

भारत में 30 सालों में 10 करोड़ भ्रूण हत्याएं हुईं, ब्राजील में हर 15 सेकंड में रेप की कोशिश

आज हम बताने जा रहे हैं, महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक 10 देशों के बारे में

भारत की मेट्रो सिटीज में सामान्य दूरी तय करने में 149% ज्यादा समय लगता है

1.43 लाख करोड़ का नुकसान हर सालल होता है टैफिक जाम से

Array ( )