IITs-NITs में गर्ल्स को हर ब्रांच और कैटेगरी में 14% रिजर्वेशन, पैनल्टी फीस भी कम

NITs में सीट छोड़ने पर लगने वाली पैनल्टी को भी कम करने का फैसला लिया गया है।

एजुकेशन डेस्क। सेंट्रल सीट एलोकेशन बोर्ड मीटिंग शुक्रवार को MNIT में की गई। मीटिंग में गर्ल्स रिजर्वेंशन को लेकर कंफ्यूजन को दूर कर दिया है। IITs और NITs में गर्ल्स रेशो बढ़ाने के लिए टोटल 14% सीट का रिजर्वेशन रखा गया। रिजर्वेशन के तहत IITs और NITs की हर ब्रांच में हर कैटेगरी की 14 परसेंट सीट्स गर्ल्स के लिए होंगी। यानी सीएस, इलेक्ट्रिकल्स सहित अलग-अलग ब्रांचेज में ओबीसी, एसटी और एससी की की अलग-अलग 14 परसेंट रिजर्वेशन दिया जाएगा। 

क्या होगा फायदा?

- एक्सपर्ट के अनुसार IIT मुंबई में सीएस ब्रांच की 60 सीट्स हैं। उदाहरण के तौर पर मान लीजिए 5 लड़कियों की 150वीं ऑल इंडिया रैंक है। कॉमन लिस्ट पहले से दो लड़कियों को मुंबई IIT की कम्प्यूटर साइंस की सीट मिल चुकी है और इन पांच लड़कियां जिनकी 150वीं रैंक है को भी गर्ल्स मैरिट में मुंबई IIT की सीएस ब्रांच मिल जाएगी। यानी कम रैंक पर भी अच्छी ब्रांच मिल जाएगी। 
 
15 जून से च्वॉइस फिलिंग 

- 10 जून को जेईई एडवांस का रिजल्ट आने की उम्मीद है, इसी को देखते हुए बोर्ड ने च्वॉइस फिलिंग्स 15 से 25 जून तक रखी है। 
- पहला राउंड 27 जून को होगा जिसमें फ़र्स्ट काउंसलिंग की सीट अलॉट की जाएगी। 
- IITs के 7 काउंसलिंग राउंड होंगे और NITs के लिए दो स्पेशल राउंड को बढ़ाते हुए 9 राउंड की काउंसलिंग रखी है। 
- NITs की दो स्पेशल काउंसलिंग राउंड सीट्स खाली रह जाती है उन्हें भरने के लिए रखे गए हैं। 
- सीट च्वॉइसेस में डिलीट करने का भी ऑप्शन होगा। अगर स्टूडेंट्स को अपनी च्वॉइसेस में गलती लगे तो डिलीट कर पाएंगे। 

NITs में सीट छोड़ने पर पैनल्टी कम

- सेंट्रल सीट एलोकेशन बोर्ड के कॉर्डिनेटर अवधेश भारद्वाज ने बताया कि NITs में सीट छोड़ने पर पैनल्टी फीस को जनरल में 45 हजार की जगह 35 हजार और रिजर्व के लिए 15 से 20 हजार कर दिया है। स्टूडेंट्स को फायदा पहुंचाते हुए बोर्ड ने इस पर भी विचार किया है कि अगर स्टूडेंट्स 8 राउंड तक सीट छोड़ रहा है तो उसे एक हजार रुपए ही पैनल्टी भरनी होगी। 
- 9वां राउंड पूरा होने पर कोई कैंडिडेट सीट छोड़ रहा है तो उसे 35 हजार रुपए देने होंगे। क्योंकि 9वें राउंड के बाद खाली सीट भरने का ऑप्शन खत्म हो जाता है। दो स्पेशल राउंड के लिए अलग से च्वॉइस भरने की सुविधा दी जाएगी। दो मॉपअप राउंड भी होंगे। 

अभी तक कितना मिलता था रिजर्वेशन?

- अभी IITs में पढ़ने वाली गर्ल्स सिर्फ 8 परसेंट और NITs में 18 परसेंट है। अगर विदेशों से तुलना करें तो ये परसेंटेज बहुत ही कम है क्योंकि फॉरेन में 49 परसेंट तक गर्ल्स टेक्नीकल इंस्टीट्यूट में पढ़ रही है। 
- यही वजह कि इंटरनेशनल लेवल पर भी अच्छी साख बनाने के लिए गर्ल्स के लिए 779 सुपरन्यूमरेरी सीट्स को क्रिएट किया गया है। जरूरत पड़ने पर ये सीट्स बढ़ाई भी जा सकती हैं। 

Next News

IIT-JEE: आखिरी दिनों में नया पढ़ने की बजाए सिर्फ रिवाइज करें

लास्ट मोमेंट में ऐसी चीजें पढ़ें, जिनमें फॉर्मूले ज्यादा हों। फॉर्मूले रिवाइज नहीं करने से रैंक और स्कोर पर असर पड़ सकता है।

IIT JEE Advanced 2018: रजिस्ट्रेशन क्लोज, 20 मई को होगा एग्जाम

जेईई एडवांस्ड के लिए स्टूडेंट्स को jeeadv.ac.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

Array ( )